Lalit “Suman” 

A Senior Editor & Publisher of  Mother India Magazine and Founder of  India Darpan ( National Hindi Dainik, Delhi), Rashtra Pratham, Great India Leaks & DID News.

 

मदर इंडिया के सम्पादक ललित सुमनजी की मुलाकात इसी क्रम में दिल्ली के उपराज्यपाल कपुर जी से इंडस्ट्रीज एंसोसिएशन की एक बैठक में होने पर मदर इंडिया जब दिया तो वे चौकतें हुए कहा,बाबू राव पटेल की पत्रिका। यह नाम सुन हमनें एल जी से कहा, यह पत्रिका हमारी है। उन्होंने कहा यह मुम्बई से बाबू राव पटेल निकालते थे , छात्र जीवन में उन्होंने इसे बहुत पढ़ा है बड़ा क्रांतिकारी लेख छपता था। हमने एल जी को बताया दिल्ली से इसका प्रकाशन हमने शुरु किया है भारत सरकार सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, रजिस्टार ऑफ न्यूज पेपर द्वारा हमें उपलब्ध कराया जा चुका है ।उपराज्यपाल बहुत प्रसन्न हुए और मदद का आश्वासन प्रदान किया ।

उसके बाद हमने मुम्बई के कई सम्पादक मित्रों से मदर इंडिया की कोई पुराना अंक खोजकर देने को कहा, सफलता नहीं मिली । एक दिन नवभारत टाइम्स में मदर इंडिया पत्रिका और बाबू राव पटेल के संर्दभ में छपा मिला ।फिर ज्ञात हुआ कि बाबू राव पटेल एक क्रांतिकारी सम्पादक ही नहीं एम. पी भी रहे है । हमें गर्व का अनुभव हुआ, हमारी दिशा सही है।

मदर इंडिया पत्रिका ने पेट्रोल पम्प घोटाला सहित एशिया की सबसे बड़ी टिम्बर व फर्नीचर मार्केट कीर्तिनगर, की गम्मीर समस्याओं का समाधान कराया बल्कि मायापुरी, ओखला,नारायणा,कीर्तिनगर,वजीरपुर ,जैसे अनेकों इंडस्ट्रीयल क्षेत्रों के एसोसिएशन को सहयोग किया । राजनीतिक क्षेत्र मे भी निगम पार्षद ,मेयर से लेकर क्ई डी सी के संर्दभ में लिखने का काम किया।

मदर इंडिया के हीरों , केन्द्रीय खेल मंत्री सुनील दत्त का दिल्ली में अंतिम इंटरव्यू मदर इंडिया पत्रिका ही के नाम ह्रै । आप मदर इंडिया पत्रिका के विगत 21वर्षों के अंकों को जब पढ़ेगे तो एक बार आपकों विश्वास नहीं होगा की कोई सम्पादक इस प्रकार सत्य लिख सकता है , कोई प्रकाशक इस प्रकार सत्य प्रकाशित कर सकता ह्रै।

आज यह पत्रिका देश की आजादी , भारत माता को फिरंगियों से आजादी दिलाने के लिए फांसी को चुमने वाले क्रांतिकारियों को शहीद का दर्जा दिलवाने के लिए संर्धष कर रहा ह्रै। 9 अगस्त को क्रांतिकारियों के वंशजों को अगस्त क्रांति के अवसर पर जहाँ सम्मानित करता वहीं राष्ट्र प्रथम का जयघोष करता है।

हमें आपका समर्थन चाहिए , अपने लिए नहीं, राष्ट्र के भावी पीढ़ी के लिए।
राष्ट्र प्रथम,वंदे मातरम, जाग उठा है भारत।

प्रकाशक – मदर इंडिया पत्रिका ।

 

[ Some Exclusive Pics of Lalit “Suman” ]